पिछली खबर

देश राष्ट्रध्वज के ‘मास्क’बिक्री करनेवाली एमेजॉन, फ्लिपकार्ट आदि प्रतिष्ठानों पर सरकार करें कानूनी कार्रवाई - सुराज्य अभियान
11.13

अगली खबर

देश स्वतंत्रता दिवस, 2020 के अवसर पर 926 पुलिसकर्मियों को पदक से सम्मानित किया गया

Share

देश प्रशासन की लापरवाही बनी जानलेवा, नाले में डूबने से गई मासूम की जान

नालासोपाराः नालासोपारा ईस्ट के धानिव बाग इलाके में सुबह एक दर्दनाक हादसा हो गया, जिसमें एक डेढ़ वर्षीय बच्ची की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि मासूम का परिवार जिस घर में रहता है उसके बगल से गुजरने वाला नाला खुला था, जिसमें गिरने से मासूम की मौत हो गई। 
 
जिस वक्त ये हादसा हुआ उस समय घर का कोई बड़ा आदमी वहां मौजूद नहीं था, थोड़ी देर बाद जब लोगों ने मासूम को ढूंढने की कोशिश की तो वो कहीं नहीं  मिली, तभी किसी की नजर घर के बगल से गुजर रहे नाले में पड़ी तो देखा  गया कि मासूम खुले नाले में गिरी है। परिजनों ने आनन-फानन में नालासोपारा के एक निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जिसके बाद परिजनों ने धानिव बाग तालाब पर मासूम का अंतिम संस्कार कर दिया। 
 
इस हादसे के लिए बीजेपी के वसई पूर्व मंडल सचिव संतोष यादव ने वसई विरार महानगर पालिक को जिम्मेदार ठहराया है, उन्होने बताया कि इस हादस के पहले 4 -5 बार महानगर पालिका को नाले के चेंबर टूटने की शिकायत की थी, लेकिन महानगर पालिका ने उस पर कोई संज्ञान नहीं लिया। अगर महानगर पालिक उनके शिकायतों पर एक्शन लेती तो शायद मासूम बच्ची आज जिंदा होती। संतोष यादव ने कहा कि यह हादसा नहीं बल्कि हत्या है और इसके लिए वसई विरार महानगर पालिक खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।
 

Related Post

Comment

Leave a comment