Breaking News:

पिछली खबर

राजनीति भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता बने प्रेम शुक्ला और शाजिया इल्मी
11.13

अगली खबर

व्यापार मई 2021 में घटा रोजगार का आंकड़ा, देशभर में 9.2 लाख लोगों को मिली नौकरी

Share

देश जमीन दाताओं को मिले आउटसोर्सिंग कंपनी में नौकरी

 माकपा सह सीटू के वरीय नेता डॉ राधेश्याम चौधरी ने कहा कि राजमहल परियोजना में आये दिन बंदी, हड़ताल सही नहीं है। नेहाल के दिन में परियोजना में लगातार की गई बंदी पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि भू- विस्थापितों एवं भू- दाताओं को प्राथमिकता एवं कागजात की जांच करने के उपरांत प्राइवेट कंपनी में राजमहल परियोजना के प्रबंधक द्वारा सत्यापन के बाद ही बेरोजगारों को रोजगार मुहैया की जाए।

 

डॉ चौधरी ने जोर देकर एवं कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि लोगों के अड़ियल रवैया से यदि राजमहल परियोजना अगर बंद हो जाती है तो जिले के सैकड़ों लोग भुखमरी के शिकार होंगे, इसलिए बेवजह एवं निजी फ़ायदा के लिए राजमहल परियोजना को बंद करना उचित नहीं है। जिनकी ज़मीन राजमहल परियोजना में अधिग्रहण हुई है उन सब की कागजात की जांच के उपरांत ही प्राइवेट कंपनी में स्थानीय बेरोजगारों को रोजगार पहली प्राथमिकता के तौर पर दी जानी चाहिए।

 

साथ ही कहा कि राजमहल परियोजना वर्तमान समय में ज़मीन अधिग्रहण नहीं होने के वजह से ऐसे भी काफी मुसीबतों से जूझ रही है, ऐसी परिस्थिति में स्थानीय बेरोजगारों को बरगला कर बंदी के लिए खड़ा करना एक सिरे से खारिज के जाने वाली बात है।

Related Post

Comment

Leave a comment