Breaking News:

पिछली खबर

देश विवाह के नाम पर धोखाधड़ी: लुटेरी दुल्हन को मेरठ से गिरफ्तार कर लाई पुलिस
11.13

अगली खबर

राजनीति उप्र: ओमप्रकाश राजभर के लिए आत्मचिंतन का अवसर

Share

देश हर्षोल्लास के साथ मनाया गया बकरीद, लोगों ने घरों में पढ़ी नमाज

भागलपुर: कोरोना को लेकर जारी जारी गाइडलाइन का पालन करते हुए जिलेभर में बकरीद का त्योहार हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। लोगों ने बकरीद की नमाज घरों में पढ़ी। फिर कुर्बानियों का सिलसिला शुरू हुआ। शाह मार्केट स्थित शाह मंजिल परिसर में खानकाह पीर दमड़िया के 15वें सज्जादानशीं सैयद फकरे हसन ने परिवार के साथ बकरीद की नमाज अदा की।

 

इस मौके पर सैयद हसन ने कहा कि मजहब-ए-इस्लाम में दो ईदें है। एक ईद-उल-फितर और दूसरा ईद-उल-अजहा है। ईद उल-अजहा के मुबारक मौके पर ही इस्लाम धर्म के मानने वाले हज जैसे अजीमुशान फ़र्ज़ की अदायगी के लिए शहर-ए-मक्का में जमा होते हैं। ईद-उल-अजहा में पूरी दुनियां के मुसलमान दो रेकत नमाज पढ़कर कुर्बानी करते हैं। यह कुर्बानी हजरत इब्राहिम और हजरत इस्माइल अलैह सलाम द्वारा दी गई कुर्बानी की याद में इमान वाले अल्लाह के हुजूर पेश करते हैं।

 

उन्होंने कहा कि कुर्बानी का मकसद त्याग और बलिदान का जज्बा पैदा करना है। अल्लाह के हुक्म के आगे गलत रास्तों को छोड़ कर नेकियों के रास्ते पर चलना है। साथ ही हर बुराई नफरत और जुल्म के रास्ते को छोड़कर अदल और इंसाफ के लिए त्याग व बलिदान के रास्ते पर चलना है। इस खुशी के मौके पर रिश्तेदारों, दोस्तों और गरीब व असहाय लोगों को जरूर शामिल करना चाहिए।

 

उन्होंने अपने संदेश में कहा कि यह त्योहार आपसी सौहार्द और भाईचारा का पैगाम भी अपने साथ लाया है। साथ ही कोरोना महामारी को देखते हुए साफ सफाई पर विशेष ध्यान दें और केंद्र व बिहार सरकार द्वारा दिए नियमों का पालन करना जरूरी है। आज भी जरूरत है कि हम हर समाज के लोग एकता अखंडता की मिशाल कायम कर देश के लिए तरक्की और उन्नति का हिस्सा बन सकें।

Related Post

Comment

Leave a comment