पिछली खबर

अंतरराष्ट्रीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने डिफेंस पीएसयू और ओएफबी द्वारा विकसित 15 उत्पादों का शुभारंभ किया
11.13

अगली खबर

अंतरराष्ट्रीय एक ही पिता के तीन पुत्रों की सांप के काटने से हुई मौत

Share

अंतरराष्ट्रीय श्रीरामजन्मभूमी अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला, रामलला विराजमान को मिला जमीन का मालिकाना

अयोध्या/नई दिल्लीःश्रीरामजन्मभूमि अयोध्या मामले पर 9 नवंबर 2019 को सुप्रीमकोर्ट ने ऐतिहासिक ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए विवादित 2.77 एकड़ जमीन का मालिकाना अधिकार रामलला विराजमान को दिया.

वहीं इस मामले में एक और पक्षकार रहे निर्मोही अखाड़े के दावे को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया इसके अलावा विपक्ष में सुन्नी वक्फ बोर्ड को सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या में ही कहीं पर भी 5 एकड़ जमीन देने का सरकार को आदेश दिया है. तो कुछ इस तरह से 3 शताब्दी पुराने दो धर्मों का विवाद चौथी शताब्दी में आकर समाप्त हुआ. अब सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक अगले 3 महिनों के अंदर केंद्र सरकार एक ट्रस्ट बनाकर श्रीराम मंदिर बनाने की कार्य योजना तैयार करें. शुरूआत में ये पूरी जमीन केंद्र सरकार के हाथ में रहेगी, जब ट्रस्ट बन जाएगा तब उस जमीन को केंद्र सरकार ट्रस्ट के हवाले करेंगी जो राम मंदिर का कार्यभार संभालेगी.

आज जब ये ऐतिहासिक फैसला आ गया है, तब पूरे देश ने इसे सहर्षता के साथ स्वीकरा किया है और पूरे देश में अभी तक तो शांती बनी हुई है. इसके लिए देश के सुरक्षा में लगे सभी पुलिस और सैनिकों का योगदान बहुत महत्वपूर्ण है. देश में पुलिस प्रशासन सुरक्षा और शांति बनाए रखने के लिए जमीन से लेकर आसमान तक और इंटरनेट से लेकर सोशल मीडिया तक पैनी नजर जमाए हुए है.

भगवान श्रीराम के अयोध्या पुनर्गामन पर त्रेता युग की तरह सजा अयोध्या धाम, सीएम योगी ने श्रीराम जी की उतारी आरती

Related Post

Comment

Leave a comment