पिछली खबर

देश संस्कृति मंत्रालय ने भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के 7 नए सर्कलों की घोषणा की
11.13

अगली खबर

अंतरराष्ट्रीय श्रीरामजन्मभूमी अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला, रामलला विराजमान को मिला जमीन का मालिकाना

Share

अंतरराष्ट्रीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने डिफेंस पीएसयू और ओएफबी द्वारा विकसित 15 उत्पादों का शुभारंभ किया

नई दिल्लीः रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ओएफबी और बीईएमएल के चार-चार उत्पादों, बीईएल के दो और एचएएल, बीडीएल, एमडीएल, जीआरएसई और जीएसएल के एक-एक उत्पाद का शुभारंभ किया, जिनको संबंधित सार्वजनिक क्षेत्र के रक्षा उपक्रमों/ऑर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड द्वारा 'आत्मनिर्भर भारत' सप्ताह समारोह के भाग के रूप में विकसित किया गया है। इस कार्यक्रम में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ, जनरल बिपिन रावत, रक्षा सचिव, डॉ. अजय कुमार, रक्षा उत्पादन सचिव, राज कुमार और डीडीपी के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
 
डीपीएसयू के सीएमडी और ओएफबी के चेयरमैन ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से इस कार्यक्रम में हिस्सा लिया। उनको संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि “रक्षा विनिर्माण में आत्मनिर्भरता,‘आत्मनिर्भर अभियान’ के प्रमुख उद्देश्यों में से एक है। उन्होंने आशा व्यक्त की है कि आत्मनिर्भरता के लक्ष्य को साकार करने के लिए “आत्मनिर्भर भारत” अभियान, भारत की रक्षा उत्पादन को आवश्यक प्रोत्साहन प्रदान करेगा। 
 
उन्होंने कहा कि,“रक्षा उत्पादन विभाग, रक्षा मंत्रालय द्वारा खरीद प्रक्रियाओं, उत्पादन नीतियों और स्वदेशीकरण पहलों को कारगर बनाने के लिए किए जा रहे ठोस प्रयासों के माध्यम से स्वदेशी रक्षा उत्पादों के विकास और निर्माण को बढ़ावा मिलेगा, जिससे आयात पर हमारी निर्भरता कम हो जाएगी और इससे विदेशी मुद्रा के बहिर्गमन को सीमित किया जा सकेगा, घरेलू उद्योग के विकास को प्रोत्साहित किया जा सकेगा, भारत को बाहरी दबाव से बचाया जा सकेगा और रक्षा उपकरणों को आजीवन कल-पुर्जे और सेवा सहायता प्रदान करना सुनिश्चित किया जा सकेगा।”
 
रक्षा मंत्री ने रिमोट बटन दबाकर इन उत्पादों का अनावरण किया। उन्होंने डीपीएसयू और आयुध कारखानों के प्रबंधन और कर्मचारियों को स्वदेशी उत्पादों पर मंथन करने में उनके प्रयासों के लिए बधाई दी और 'आत्मनिर्भर' के लिए उनकी प्रतिबद्धता की सराहना की। राजनाथ सिंह ने रक्षा उत्पादन सचिव और उनकी टीम को 07 से 14 अगस्त 2020 तक ‘आत्मनिर्भरता’ सप्ताह मनाने की दिशा में की गई पहल के लिए विशेष रूप से बधाई दी। उन्होंने कहा कि, "स्वदेशी उत्पादों और नए उत्पादों की प्रभावशाली सूची, जो आज जारी की गई है, मुझे विश्वास है कि डीपीएसयूऔर आयुध कारखानों के 'आत्मनिर्भरअभियान' के प्रमुख चालक साबित होंगे और राष्ट्रीय सुरक्षा और आत्मनिर्भरता में महत्वपूर्ण योगदान देंगें।"
 
उन्होंने आगे कहा कि "आज शुभारंभ किए गए कुछ उत्पाद न केवल रक्षा क्षेत्र की आवश्यकताओं को पूरा करेंगे बल्कि जरूरत पड़ने पर नागरिक समाज के लिए भी उपयोगी साबित होंगे। डीपीएसयू और आयुध कारखाने राष्ट्रीय सुविधाएं हैं, जिनको लंबे समय तक निर्मित और मजबूत किया गया है और इनमें बहुत ज्यादा तकनीकी कौशल और क्षमता उपलब्ध है। उनके पास कुशल संरचना वाली आरएंडडी, परीक्षण सुविधाएं और विनिर्माण क्षमता मौजूद हैं जिनका उपयोग पूरी तरह से स्वदेशी डिजाइन, विकास और विनिर्माण के लिए किया जाना चाहिए।"

Related Post

Comment

Leave a comment